Wedding Insurance: क्या होता है मैरिज इंश्योरेंस? कब पड़ती है इसकी जरूरत?

शादी से ठीक पहले ही शादी कैंसिल होने पर लोगों को लाखों रुपये का नुकसान झेलना पड़ता है. ऐसे में लोगों की परेशानी को दूर करने के लिए बीमा कंपनियों ने शादी का बीमा देना शुरू कर दिया है. इसमें शादी में हुए नुकसान जैसे शादी कैंसिल होने की स्थिति में, सामान चोरी होने पर, किसी तरह की दुर्घटना होने पर बीमा कंपनी पॉलिसीधारक के नुकसान की भरपाई करती है

Photo of author

Reported by अतुल कुमार

Published on

Wedding Insurance: क्या होता है मैरिज इंश्योरेंस? कब पड़ती है इसकी जरूरत?

मैरिज इंश्योरेंस एक प्रकार का जीवन बीमा है, जो एक शादीशुदा जोड़े को उनकी शादी को पूरा करने में मदद करता है। यह इंश्योरेंस एक ऐसी घटना के मामले में भुगतान करता है जो शादी को बाधित कर सकती है, जैसे कि किसी एक साथी की मृत्यु या गंभीर बीमारी।

जैसा की आप सभी जानते हैं देश और दुनिया में कोरोना महामारी के बाद से मैरिज इंश्योरेंस का चलन बढ़ गया है। कोरोना महामारी के कारण कई शादियां स्थगित या रद्द हो गईं। इससे लोगों को आर्थिक नुकसान हुआ। मैरिज इंश्योरेंस से लोगों को इस तरह के नुकसान से बचाव मिल सकता है। आइए जानते हैं मैरिज इंश्योरेंस के सम्पूर्ण लाभ।

क्या होता है वेडिंग इंश्योरेंस?

वेडिंग इंश्योरेंस एक प्रकार का जीवन बीमा है, जो एक शादीशुदा जोड़े को उनकी शादी को पूरा करने में मदद करता है। यह इंश्योरेंस एक ऐसी घटना के मामले में भुगतान करता है जो शादी को बाधित कर सकती है, जैसे कि किसी एक साथी की मृत्यु या गंभीर बीमारी।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

वेडिंग इंश्योरेंस पॉलिसी में निम्नलिखित लाभ शामिल हैं:

  • शादी के खर्चों की भरपाई: यदि किसी एक साथी की मृत्यु या गंभीर बीमारी के कारण शादी स्थगित हो जाती है, तो वेडिंग इंश्योरेंस से प्राप्त राशि से शादी के खर्चों को पूरा किया जा सकता है।
  • आर्थिक सुरक्षा: वेडिंग इंश्योरेंस से प्राप्त राशि से जीवित साथी को आर्थिक सहायता मिल सकती है।
  • शादी की रक्षा: वेडिंग इंश्योरेंस से शादी की रक्षा होती है और यह सुनिश्चित करता है कि शादी किसी भी परिस्थिति में पूरी हो।

ऐसे देना होगा प्रीमियम

वेडिंग इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदने वाले को कुल वेडिंग बजट के आधार पर प्रीमियम देना होता है। प्रीमियम की राशि आपकी शादी के खर्चों की मात्रा, आपकी उम्र, आपकी स्वास्थ्य स्थिति और अन्य कारकों पर निर्भर करती है।

सामान्य तौर पर, वेडिंग इंश्योरेंस पॉलिसी का प्रीमियम कुल वेडिंग बजट का 1 से 1.5 प्रतिशत होता है। उदाहरण के लिए, यदि आपकी शादी का बजट 20 लाख रुपये है, तो आपको वेडिंग इंश्योरेंस पॉलिसी के लिए 20,000 से 30,000 रुपये प्रति वर्ष प्रीमियम देना होगा।

वेडिंग इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदते समय, प्रीमियम की राशि पर विचार करना महत्वपूर्ण है। यदि आपका प्रीमियम बहुत अधिक है, तो यह आपकी बजट पर बोझ बन सकता है।

ये कंपनी देंगी सुविधा

वेडिंग इंश्योरेंस पॉलिसी की सुविधा देश में कई इंश्योरेंस कंपनी दे रही है। ये पॉलिसी शादी के दौरान होने वाली अप्रत्याशित घटनाओं से होने वाले नुकसान की भरपाई करती हैं।

वेडिंग इंश्योरेंस पॉलिसी में निम्नलिखित लाभ शामिल हैं:

  • शादी के खर्चों की भरपाई: यदि किसी एक साथी की मृत्यु या गंभीर बीमारी के कारण शादी स्थगित हो जाती है, तो वेडिंग इंश्योरेंस से प्राप्त राशि से शादी के खर्चों को पूरा किया जा सकता है।
  • आर्थिक सुरक्षा: वेडिंग इंश्योरेंस से प्राप्त राशि से जीवित साथी को आर्थिक सहायता मिल सकती है।
  • शादी की रक्षा: वेडिंग इंश्योरेंस से शादी की रक्षा होती है और यह सुनिश्चित करता है कि शादी किसी भी परिस्थिति में पूरी हो।

वेडिंग इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदते समय निम्नलिखित बातों का ध्यान रखना चाहिए:

  • बीमा राशि: बीमा राशि आपकी शादी के खर्चों को पूरा करने के लिए पर्याप्त होनी चाहिए।
  • प्रीमियम: प्रीमियम आपकी आय और आर्थिक स्थिति के अनुकूल होना चाहिए।
  • कवरेज: बीमा पॉलिसी में मिलने वाले कवरेज की जांच कर लें।
  • समय सीमा: बीमा पॉलिसी की समय सीमा आपकी शादी की तारीख के अनुकूल होनी चाहिए।

भारत में वेडिंग इंश्योरेंस पॉलिसी प्रदान करने वाली कुछ प्रमुख इंश्योरेंस कंपनियां हैं:

  • बजाज आलियांज जनरल इंश्योरेंस
  • फ्यूचर जनरल
  • HDFC Agro
  • ICICI लोम्बार्ड
  • LIC

वेडिंग इंश्योरेंस एक महत्वपूर्ण बीमा है जो शादीशुदा जोड़े को वित्तीय सुरक्षा प्रदान करता है। यह इंश्योरेंस शादी को किसी भी परिस्थिति में पूरा करने में मदद कर सकता है।

Leave a Comment