इन 5 लोगों के पास है इतना पैसा, रोज 1 मिलियन खर्च करें तो भी 476 साल तक नहीं हो पाएगा खत्म 

Oxfam रिपोर्ट के अनुसार, दुनिया के 5 सबसे अमीर लोगों की कुल संपत्ति 1.2 ट्रिलियन डॉलर है, जो 2020 के बाद से 20% बढ़ी है। यदि ये लोग हर दिन 1 मिलियन डॉलर खर्च करें, तो उनकी संपत्ति को खत्म करने में 476 साल लगेंगे। यह स्थिति असमानता और गरीबी के संबंध में गंभीर चिंताओं को उजागर करती है, क्योंकि गरीबों के लिए स्वास्थ्य, शिक्षा, और रोजगार के अवसरों में असमानता बढ़ जाती है। इससे सामाजिक, आर्थिक, और राजनीतिक समस्याएं उत्पन्न होती हैं, जो समाज के सभी वर्गों को प्रभावित करती हैं।

Photo of author

Reported by अतुल कुमार

Published on

इन 5 लोगों के पास है इतना पैसा, रोज 1 मिलियन खर्च करें तो भी 476 साल तक नहीं हो पाएगा खत्म 

एक रिपोर्ट के अनुसार, दुनिया के 5 सबसे अमीर लोगों के पास इतना पैसा है कि अगर वे हर दिन 1 मिलियन डॉलर खर्च करें तो भी उन्हें अपना सारा पैसा खत्म करने में 476 साल लग जाएंगे।

यह रिपोर्ट ऑक्सफैम द्वारा प्रकाशित की गई है, जो एक अंतरराष्ट्रीय गैर-सरकारी संगठन है जो गरीबी और असमानता के खिलाफ काम करता है।

Oxfam Report के अनुसार 5 सबसे अमीर लोग

क्या आप जानते हैं कि 2020 के बाद से दुनिया के 5 सबसे अमीर लोगों की संपत्ति में कितनी वृद्धि हुई है? यह जानकारी आपको हैरान कर सकती है!

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

Oxfam Report के अनुसार, एलोन मस्क, बर्नार्ड अरनॉल्ट एंड फैमिली, जेफ बेजोस, लैरी एलिसन, और वॉरेन बफेट की कुल संपत्ति 405 बिलियन डॉलर से बढ़कर 869 बिलियन डॉलर हो गई है।

यह बढ़ोतरी प्रति घंटे 14 मिलियन डॉलर की दर से हुई है। यह जानकारी Oxfam Report से सामने आई है।

Top-5 richest people की कुल सम्पत्ति कितनी है ?

2023 में, दुनिया के 5 सबसे अमीर लोगों की कुल संपत्ति 1.2 ट्रिलियन डॉलर थी। यह राशि 2022 की तुलना में 20% अधिक है।

यहाँ 2023 के 5 सबसे अमीर लोगों की सूची दी गई है:

  1. एलन मस्क: टेस्ला और स्पेसएक्स के सीईओ, जिनकी कुल संपत्ति 229 बिलियन डॉलर थी।
  2. बर्नार्ड अरनॉल्ट: मोएट हेनेसी लुई वुइटन के अध्यक्ष और सीईओ, जिनकी कुल संपत्ति 173 बिलियन डॉलर थी।
  3. जेफ बेजोस: अमेज़ॅन के संस्थापक और सीईओ, जिनकी कुल संपत्ति 137 बिलियन डॉलर थी।
  4. लैरी एलिसन: ओरेकल के संस्थापक और सीईओ, जिनकी कुल संपत्ति 109 बिलियन डॉलर थी।
  5. वॉरेन बफेट: बर्कशायर हैथवे के अध्यक्ष और सीईओ, जिनकी कुल संपत्ति 107 बिलियन डॉलर थी।

बढ़ती अमीरी से गरीबों पर संकट

बढ़ती अमीरी और गरीबी के बीच बढ़ती खाई आज दुनिया के सामने सबसे गंभीर चिंताओं में से एक है। यह असमानता कई तरह से गरीबों के जीवन को नकारात्मक रूप से प्रभावित करती है।

यहाँ कुछ प्रमुख प्रभावों पर प्रकाश डाला गया है:

1. सामाजिक और राजनीतिक अस्थिरता:

  • बढ़ती असमानता सामाजिक तनाव और असंतोष को जन्म दे सकती है।
  • यह सामाजिक अशांति, हिंसा और यहां तक ​​कि क्रांतिकारी गतिविधियों का कारण बन सकती है।
  • गरीब लोग अक्सर राजनीतिक रूप से हाशिए पर होते हैं, और उनकी आवाजें अनसुनी रह जाती हैं।

2. आर्थिक अवसरों की कमी:

  • अमीरों के पास शिक्षा, स्वास्थ्य सेवा, और रोजगार के बेहतर अवसरों तक पहुंच होती है।
  • गरीब लोग अक्सर इन बुनियादी जरूरतों को पूरा करने में संघर्ष करते हैं।
  • यह गरीबी चक्र को बनाए रखता है और गरीबों को आगे बढ़ने से रोकता है।

3. स्वास्थ्य और शिक्षा में असमानता:

  • गरीब लोगों को अक्सर स्वास्थ्य सेवा और शिक्षा तक पहुंच नहीं होती है।
  • इससे कुपोषण, बीमारी और कम साक्षरता दर होती है।
  • यह गरीबों को आगे बढ़ने और बेहतर जीवन जीने से रोकता है।

4. अपराध में वृद्धि:

  • गरीबी और निराशा अपराध में वृद्धि का कारण बन सकती है।
  • गरीब लोग अक्सर अपराध के शिकार भी होते हैं।
  • यह सामाजिक सुरक्षा को कम करता है और सभी के लिए जीवन की गुणवत्ता को प्रभावित करता है।

यह स्पष्ट है कि बढ़ती अमीरी गरीबों के लिए गंभीर संकट पैदा करती है। इस समस्या को हल करने के लिए कई तरह के उपाय किए जा सकते हैं, जिनमें शामिल हैं:

  • प्रगतिशील कराधान
  • शिक्षा और स्वास्थ्य सेवा तक पहुंच में सुधार
  • गरीबों के लिए रोजगार के अवसरों का सृजन
  • सामाजिक सुरक्षा जाल को मजबूत करना

यह एक जटिल समस्या है जिसके लिए सभी हितधारकों – सरकारों, व्यवसायों और नागरिक समाज – से मिलकर प्रयास की आवश्यकता होगी।

Leave a Comment