Ladli Behna Yojana Se Hataye NAAM: लाड़ली बहना योजना से हट गए हजारों नाम, महिला बाल विकास विभाग ने बताई बड़ी वजह

मध्य प्रदेश सरकार की लाड़ली बहना योजना से हजारों नाम हटा दिए गए हैं। योजना के तहत 1250 रुपये प्रति माह की राशि मिलती है। महिला बाल विकास विभाग के मुताबिक, 6000 से अधिक नाम हटा दिए गए हैं। उनमें 5660 नामों की उम्र 60 वर्ष से अधिक हो गई है, 369 नामों ने योजना का लाभ त्यागा, और 1000 नामों में त्रुटियां थीं। नामों की सहीता की प्रक्रिया जारी है। लाभार्थियों को आधिकारिक वेबसाइट या विभाग से संपर्क करने का सुझाव दिया गया है।

Photo of author

Reported by अतुल कुमार

Published on

Ladli Behna Yojana Se Hataye NAAM: लाड़ली बहना योजना से हट गए हजारों नाम, महिला बाल विकास विभाग ने बताई बड़ी वजह

मध्य प्रदेश सरकार की महत्वाकांक्षी योजना लाड़ली बहना योजना से हजारों नाम हटा दिए गए हैं। महिला बाल विकास विभाग ने इसकी बड़ी वजह बताई है।

Ladli Behna Yojana Se Hataye Naam:  मध्य प्रदेश सरकार की महत्वाकांक्षी योजना लाड़ली बहना योजना के तहत, सरकार प्रत्येक लाड़ली बहन को 1250 रुपये प्रति माह की राशि देती है। अब तक, सरकार ने योजना की 8 किस्त सफलतापूर्वक महिलाओं के खाते में जमा कर दी है। आइए जानते हैं इस पूरी खबर के बारें में……

लाड़ली बहना योजना क्या है?

लाड़ली बहना योजना मध्य प्रदेश सरकार की एक योजना है, जो बेटियों के जन्म को प्रोत्साहित करने के लिए शुरू की गई थी। इस योजना के तहत, सरकार प्रत्येक लाड़ली बहन को 1250 रुपये प्रति माह की राशि देती है।

लाडली बहनों के नाम हटने से हड़कंप, क्या है वजह?

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

मध्य प्रदेश सरकार की महत्वाकांक्षी योजना लाडली बहन योजना के तहत, सरकार प्रत्येक लाड़ली बहन को 1250 रुपये प्रति माह की राशि देती है। अब तक, सरकार ने योजना की 8 किस्त सफलतापूर्वक महिलाओं के खाते में जमा कर दी है।

हालांकि, हाल ही में यह खबर आई है कि लाडली बहन योजना से हजारों नाम हटा दिए गए हैं। इनमें से अधिकांश नाम तकनीकी फिल्टर के कारण हटाए गए हैं।

लाड़ली बहना योजना से हटे नामों की संख्या

महिला बाल विकास विभाग के मुताबिक, लाड़ली बहना योजना से 6000 से अधिक नाम हटा दिए गए हैं। इनमें से 5660 नाम उन महिलाओं के हैं, जिनकी उम्र 60 वर्ष से अधिक हो गई है। 369 नाम उन महिलाओं के हैं, जिन्होंने योजना से लाभ त्यागने का विकल्प चुना है। इसके अलावा, 1000 नाम उन महिलाओं के हैं, जिनके नाम गलत तरीके से दर्ज किए गए थे।

महिला बाल विकास विभाग ने क्या कहा?

महिला बाल विकास विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि लाड़ली बहना योजना के तहत लाभार्थियों की आयु सीमा 60 वर्ष है। जिन महिलाओं की उम्र 60 वर्ष से अधिक हो गई है, उनके नाम योजना से हटा दिए गए हैं। इसके अलावा, जिन महिलाओं ने योजना से लाभ त्यागने का विकल्प चुना है, उनके नाम भी योजना से हटा दिए गए हैं।

उन्होंने बताया कि 1000 नाम उन महिलाओं के हैं, जिनके नाम गलत तरीके से दर्ज किए गए थे। इन नामों को सही किया जाएगा और इन महिलाओं को योजना का लाभ दिया जाएगा।

कैसे चेक कर सकते हैं अपना नाम

यदि आप लाडली बहना योजना की लाभार्थी हैं और आप यह जानना चाहते हैं कि आपका नाम हट गया है या नहीं, तो आप निम्नलिखित तरीकों से जांच कर सकते हैं:

महिला बाल विकास विभाग की वेबसाइट पर जाकर

  1. सबसे पहले, आपको महिला बाल विकास विभाग की वेबसाइट पर जाना होगा।
  2. होम पेज पर, आपको “लाडली बहना योजना” टैब पर क्लिक करना होगा।
  3. आपको “लाभार्थी सूची” लिंक पर क्लिक करना होगा।
  4. आपको अपना आधार नंबर दर्ज करना होगा और “सबमिट” बटन पर क्लिक करना होगा।
  5. आपकी सूची स्क्रीन पर प्रदर्शित होगी।

महिला बाल विकास विभाग के टोल-फ्री नंबर पर कॉल करके

  1. आप महिला बाल विकास विभाग के टोल-फ्री नंबर 1800-233-1122 पर कॉल कर सकते हैं।
  2. आप अपने नाम की जानकारी प्रदान करें।
  3. अधिकारी आपको बताएंगे कि आपका नाम योजना में है या नहीं।

महिला बाल विकास विभाग के कार्यालय में जाकर

  1. आप अपने जिले के महिला बाल विकास विभाग के कार्यालय में जा सकते हैं।
  2. आपको अपने आधार कार्ड की एक प्रति और एक फोटोग्राफ जमा करना होगा।
  3. अधिकारी आपके नाम की जांच करेंगे और आपको बताएंगे कि आपका नाम योजना में है या नहीं।

यदि आपका नाम योजना से हटा दिया गया है, तो आपको तुरंत महिला बाल विकास विभाग से संपर्क करना चाहिए। विभाग के अधिकारी आपको बताएंगे कि आपका नाम हटाए जाने का कारण क्या है। यदि आपका नाम

मध्य प्रदेश सरकार की महत्वाकांक्षी योजना लाड़ली बहना योजना से हजारों नाम हटा दिए गए हैं। महिला बाल विकास विभाग ने इसकी बड़ी वजह बताई है।

Ladli Behna Yojana Se Hataye Naam:  मध्य प्रदेश सरकार की महत्वाकांक्षी योजना लाड़ली बहना योजना के तहत, सरकार प्रत्येक लाड़ली बहन को 1250 रुपये प्रति माह की राशि देती है। अब तक, सरकार ने योजना की 8 किस्त सफलतापूर्वक महिलाओं के खाते में जमा कर दी है। आइए जानते हैं इस पूरी खबर के बारें में……

लाड़ली बहना योजना क्या है?

लाड़ली बहना योजना मध्य प्रदेश सरकार की एक योजना है, जो बेटियों के जन्म को प्रोत्साहित करने के लिए शुरू की गई थी। इस योजना के तहत, सरकार प्रत्येक लाड़ली बहन को 1250 रुपये प्रति माह की राशि देती है।

लाडली बहनों के नाम हटने से हड़कंप, क्या है वजह?

मध्य प्रदेश सरकार की महत्वाकांक्षी योजना लाडली बहन योजना के तहत, सरकार प्रत्येक लाड़ली बहन को 1250 रुपये प्रति माह की राशि देती है। अब तक, सरकार ने योजना की 8 किस्त सफलतापूर्वक महिलाओं के खाते में जमा कर दी है।

हालांकि, हाल ही में यह खबर आई है कि लाडली बहन योजना से हजारों नाम हटा दिए गए हैं। इनमें से अधिकांश नाम तकनीकी फिल्टर के कारण हटाए गए हैं।

लाड़ली बहना योजना से हटे नामों की संख्या

महिला बाल विकास विभाग के मुताबिक, लाड़ली बहना योजना से 6000 से अधिक नाम हटा दिए गए हैं। इनमें से 5660 नाम उन महिलाओं के हैं, जिनकी उम्र 60 वर्ष से अधिक हो गई है। 369 नाम उन महिलाओं के हैं, जिन्होंने योजना से लाभ त्यागने का विकल्प चुना है। इसके अलावा, 1000 नाम उन महिलाओं के हैं, जिनके नाम गलत तरीके से दर्ज किए गए थे।

महिला बाल विकास विभाग ने क्या कहा?

महिला बाल विकास विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि लाड़ली बहना योजना के तहत लाभार्थियों की आयु सीमा 60 वर्ष है। जिन महिलाओं की उम्र 60 वर्ष से अधिक हो गई है, उनके नाम योजना से हटा दिए गए हैं। इसके अलावा, जिन महिलाओं ने योजना से लाभ त्यागने का विकल्प चुना है, उनके नाम भी योजना से हटा दिए गए हैं।

उन्होंने बताया कि 1000 नाम उन महिलाओं के हैं, जिनके नाम गलत तरीके से दर्ज किए गए थे। इन नामों को सही किया जाएगा और इन महिलाओं को योजना का लाभ दिया जाएगा।

कैसे चेक कर सकते हैं अपना नाम

यदि आप लाडली बहना योजना की लाभार्थी हैं और आप यह जानना चाहते हैं कि आपका नाम हट गया है या नहीं, तो आप निम्नलिखित तरीकों से जांच कर सकते हैं:

महिला बाल विकास विभाग की वेबसाइट पर जाकर

  1. सबसे पहले, आपको महिला बाल विकास विभाग की वेबसाइट पर जाना होगा।
  2. होम पेज पर, आपको “लाडली बहना योजना” टैब पर क्लिक करना होगा।
  3. आपको “लाभार्थी सूची” लिंक पर क्लिक करना होगा।
  4. आपको अपना आधार नंबर दर्ज करना होगा और “सबमिट” बटन पर क्लिक करना होगा।
  5. आपकी सूची स्क्रीन पर प्रदर्शित होगी।

महिला बाल विकास विभाग के टोल-फ्री नंबर पर कॉल करके

  1. आप महिला बाल विकास विभाग के टोल-फ्री नंबर 1800-233-1122 पर कॉल कर सकते हैं।
  2. आप अपने नाम की जानकारी प्रदान करें।
  3. अधिकारी आपको बताएंगे कि आपका नाम योजना में है या नहीं।

महिला बाल विकास विभाग के कार्यालय में जाकर

  1. आप अपने जिले के महिला बाल विकास विभाग के कार्यालय में जा सकते हैं।
  2. आपको अपने आधार कार्ड की एक प्रति और एक फोटोग्राफ जमा करना होगा।
  3. अधिकारी आपके नाम की जांच करेंगे और आपको बताएंगे कि आपका नाम योजना में है या नहीं।

यदि आपका नाम योजना से हटा दिया गया है, तो आपको तुरंत महिला बाल विकास विभाग से संपर्क करना चाहिए। विभाग के अधिकारी आपको बताएंगे कि आपका नाम हटाए जाने का कारण क्या है। यदि आपका नाम किसी तकनीकी समस्या के कारण हटा दिया गया है, तो विभाग के अधिकारी आपके नाम को पुनः जोड़ देंगे। यदि आपका नाम योजना की पात्रता के आधार पर हटा दिया गया है, तो आपको विभाग को यह बताना होगा कि आप योजना के लाभ को जारी रखना चाहती हैं या नहीं।

Leave a Comment