चाहते हैं बच्चे को फॉरेन में पढ़ाना? जन्म लेने के साथ ही शुरू कर दें ऐसे प्लानिंग

विदेश में शिक्षा प्राप्त करना कई युवाओं का सपना होता है। यह सपना न केवल उन्हें बेहतर शिक्षा और करियर के अवसर प्रदान करता है, बल्कि उन्हें एक नई संस्कृति का अनुभव करने और अपने क्षितिज का विस्तार करने का मौका भी देता है। लेकिन कम सैलरी वाले माता-पिता के लिए, यह सपना अक्सर पहुंच से बाहर लगता है। लेकिन चिंता न करें, कुछ रणनीतियाँ हैं जिनका उपयोग करके आप कम सैलरी में भी अपने बच्चे को विदेश में पढ़ाई के लिए भेज सकते हैं। इस लेख में जानें कैसे बच्चों की विदेश में शिक्षा के खर्च को निवेश के…

Photo of author

Reported by अतुल कुमार

Published on

चाहते हैं बच्चे को फॉरेन में पढ़ाना? जन्म लेने के साथ ही शुरू कर दें ऐसे प्लानिंग

विदेश में शिक्षा प्राप्त करना कई युवाओं का सपना होता है। यह सपना न केवल उन्हें बेहतर शिक्षा और करियर के अवसर प्रदान करता है, बल्कि उन्हें एक नई संस्कृति का अनुभव करने और अपने क्षितिज का विस्तार करने का मौका भी देता है।

लेकिन कम सैलरी वाले माता-पिता के लिए, यह सपना अक्सर पहुंच से बाहर लगता है।

लेकिन चिंता न करें, कुछ रणनीतियाँ हैं जिनका उपयोग करके आप कम सैलरी में भी अपने बच्चे को विदेश में पढ़ाई के लिए भेज सकते हैं।

50 लाख रुपये तक का आ जाता है खर्च

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

आज के समय में, विदेश में शिक्षा प्राप्त करना महंगा हो गया है। 40-50 लाख रुपये का खर्च आमतौर पर होता है, जो आने वाले समय में और बढ़ सकता है। यह यूनिवर्सिटी और देश के अनुसार भिन्न हो सकता है।

लेकिन चिंता न करें, सही निवेश योजना के साथ आप इस सपने को पूरा कर सकते हैं।

20 साल बाद 50 लाख रुपये कैसे इकट्ठा करें:

  • SIP में निवेश:

यदि आप आज से ₹10,000 प्रति महीने का SIP शुरू करते हैं और 20 साल तक 12% की औसत वार्षिक ब्याज दर प्राप्त करते हैं, तो आपके पास लगभग ₹1 करोड़ होंगे।

  • 15% रिटर्न:

यदि आप 15% की औसत वार्षिक ब्याज दर प्राप्त करते हैं, तो आपके पास लगभग ₹1.5 करोड़ होंगे।

एक्सपर्ट सलाह:

  • जल्दी शुरुआत करें: बच्चे के जन्म से ही निवेश शुरू करें।
  • SIP: SIP एक बेहतरीन विकल्प है, क्योंकि यह नियमित रूप से बचत करने और बाजार में उतार-चढ़ाव का लाभ उठाने में मदद करता है।
  • वित्तीय सलाहकार:

एक वित्तीय सलाहकार से सलाह लें जो आपके लक्ष्यों और जोखिम सहनशीलता के आधार पर एक निवेश योजना तैयार कर सके।

अतिरिक्त रणनीतियाँ:

  • बच्चे की योग्यता:

बच्चे को अच्छे अंक प्राप्त करने और प्रवेश परीक्षाओं की तैयारी करने के लिए प्रोत्साहित करें।

  • छात्रवृत्ति:

विदेशी विश्वविद्यालयों में छात्रवृत्ति और वित्तीय सहायता के लिए आवेदन करें।

  • कम खर्च वाले विश्वविद्यालय:

कम ट्यूशन फीस वाले विश्वविद्यालयों की तलाश करें।

  • बच्चे का योगदान:

बच्चे को पार्ट-टाइम नौकरी या इंटर्नशिप ढूंढने में मदद करें।

यह याद रखना महत्वपूर्ण है:

  • निवेश में धैर्य रखें।
  • बाजार में उतार-चढ़ाव होंगे, लेकिन लंबी अवधि में निवेश अच्छा रिटर्न देते हैं।
  • बच्चे की रुचि और योग्यता को ध्यान में रखें।
  • बच्चे को निर्णय लेने में शामिल करें।
  • शिक्षा ऋण लेने से पहले सावधानी बरतें।
  • बच्चे के साथ नियमित रूप से संपर्क में रहें।

विदेश में शिक्षा प्राप्त करना एक चुनौतीपूर्ण लेकिन पुरस्कृत अनुभव हो सकता है।

उचित योजना और तैयारी से, आप अपने बच्चे को इस सपने को पूरा करने में मदद कर सकते हैं।

यहाँ कुछ अतिरिक्त संसाधन दिए गए हैं:

यह जानकारी आपके लिए उपयोगी होगी।

Leave a Comment