Treatment in Hospital : इलाज में लापरवाही बरतने वाले अस्पताल के खिलाफ शिकायत कैसे करें और मुआवजा कैसे प्राप्त करें?

डॉक्टरों का दायित्व है मरीजों की उचित देखभाल करना, लेकिन वे मरीजों को जीवित रखने की गारंटी नहीं दे सकते। शिकायत दर्ज करने के लिए अस्पताल के शिकायत विभाग से संपर्क करें, राज्य चिकित्सा परिषद से संपर्क करें, उपभोक्ता न्यायालय में शिकायत दर्ज करें, पुलिस में शिकायत दर्ज करें या कानूनी सलाह लें। मुआवजा प्राप्त करने के लिए डॉक्टर या अस्पताल के खिलाफ आपको उन्हें लापरवाही का सबूत देना होगा। इस प्रक्रिया में कानूनी सलाह लें और अपनी आवाज उठाएं।

Photo of author

Reported by अतुल कुमार

Published on

इलाज में लापरवाही बरतने वाले अस्पताल के खिलाफ शिकायत कैसे करें और मुआवजा कैसे प्राप्त करें?

Treatment in Hospital : यह समझना महत्वपूर्ण है कि हर मौत लापरवाही का परिणाम नहीं होती है। डॉक्टरों का दायित्व है कि वे मरीजों को उचित देखभाल प्रदान करें, लेकिन वे मरीजों को जीवित रखने की गारंटी नहीं दे सकते हैं।

यदि आपको लगता है कि आपके इलाज में लापरवाही बरती गई है, तो आपको शिकायत दर्ज करने में कोई देर नहीं करनी है। हम आपको इस लेख में इलाज में लापरवाही बरतने वाले अस्पताल के खिलाफ शिकायत करने की सम्पूर्ण जानकारी बताने जा रहें हैं अतः आप इस लेख को अंत तक अवश्य पढ़ें।

ऐसे करें शिकायत

इलाज में लापरवाही बरतने वाले अस्पताल के खिलाफ शिकायत करने और मुआवजा प्राप्त करने के लिए आप निम्नलिखित चरणों का पालन कर सकते हैं:

1. अस्पताल के शिकायत विभाग से संपर्क करें:

  • अधिकांश अस्पतालों में एक शिकायत विभाग होता है जो मरीजों की शिकायतों का समाधान करता है।
  • आप अस्पताल के शिकायत विभाग से संपर्क कर सकते हैं और अपनी शिकायत दर्ज कर सकते हैं।
  • आपको अपनी शिकायत का विवरण, डॉक्टर का नाम, और अन्य प्रासंगिक जानकारी प्रदान करनी होगी।

2. राज्य चिकित्सा परिषद से संपर्क करें:

  • यदि आपको लगता है कि डॉक्टर ने लापरवाही बरती है, तो आप राज्य चिकित्सा परिषद से संपर्क कर सकते हैं।
  • राज्य चिकित्सा परिषद डॉक्टरों के पंजीकरण और अनुशासन के लिए जिम्मेदार है।
  • आपको अपनी शिकायत का विवरण, डॉक्टर का नाम, और अन्य प्रासंगिक जानकारी प्रदान करनी होगी।

3. उपभोक्ता न्यायालय में शिकायत दर्ज करें:

  • यदि आपको लगता है कि आपको अस्पताल द्वारा उचित सेवा नहीं दी गई है, तो आप उपभोक्ता न्यायालय में शिकायत दर्ज कर सकते हैं।
  • उपभोक्ता न्यायालय मरीजों और सेवा प्रदाताओं के बीच विवादों का समाधान करता है।
  • आपको अपनी शिकायत का विवरण, अस्पताल का नाम, और अन्य प्रासंगिक जानकारी प्रदान करनी होगी।

4. पुलिस में शिकायत दर्ज करें:

  • यदि आपको लगता है कि आपके साथ कोई अपराध हुआ है, जैसे कि चोरी या मारपीट, तो आप पुलिस में शिकायत दर्ज कर सकते हैं।
  • पुलिस मामले की जांच करेगी और उचित कार्रवाई करेगी।

5. कानूनी सलाह लें:

  • यदि आप अपनी शिकायत दर्ज करने के बारे में निश्चित नहीं हैं, तो आप किसी वकील से कानूनी सलाह ले सकते हैं।
  • वकील आपको आपके कानूनी अधिकारों और विकल्पों के बारे में सलाह दे सकता है।

मुआवजा प्राप्त करना

  • यदि आपको लगता है कि आपके इलाज में लापरवाही बरती गई है, तो आप मुआवजा प्राप्त करने के लिए पात्र हो सकते हैं।
  • मुआवजा प्राप्त करने के लिए, आपको यह साबित करना होगा कि:
    • डॉक्टर या अस्पताल ने लापरवाही बरती है।
    • लापरवाही के कारण आपको चोट या नुकसान हुआ है।
    • आपको हुए नुकसान की भरपाई के लिए आपको मुआवजा दिया जाना चाहिए।
व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

मुआवजे की राशि नुकसान की गंभीरता पर निर्भर करती है।

यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि शिकायत दर्ज करने और मुआवजा प्राप्त करने की प्रक्रिया जटिल हो सकती है।

यह सलाह दी जाती है कि आप किसी वकील से कानूनी सलाह लें और अपनी शिकायत दर्ज करने में सहायता प्राप्त करें।

यह भी याद रखें कि आप अकेले नहीं हैं। यदि आपको किसी भी प्रकार की समस्या का सामना करना पड़ता है, तो अपनी आवाज उठाएं और शिकायत करें।

आपकी सुरक्षा और सुविधा हमारे लिए महत्वपूर्ण है।

यहां कुछ अतिरिक्त टिप्स दिए गए हैं:

  • अपनी शिकायत का दस्तावेजीकरण करें। इसमें मेडिकल रिकॉर्ड, बिल, और अन्य प्रासंगिक जानकारी शामिल है।
  • गवाहों से बात करें। यदि आपके इलाज में लापरवाही बरती गई है, तो अन्य लोग भी इस बारे में गवाही दे सकते हैं।
  • धैर्य रखें। शिकायत दर्ज करने और मुआवजा प्राप्त करने की प्रक्रिया में समय लग सकता है।

Leave a Comment