India Women Billionaires: भारत की टॉप 9 महिला अरब पति, बिजनेस में इन महिलाओं ने बनाया अपना अलग मुकाम

आपने देश में टॉप 10 अमीर पुरुषों के नाम तो अवश्य सुने होंगे और आप उन्हें जानते भी होंगे, लेकिन क्या आपने भारत में महिला अरबपतियों के नाम भी सुने है नहीं ना, तो कोई बात नहीं आज हम आपको इस लेख में भारत की टॉप 9 महिला अरबपतियों के बारे एवम् बताने जा रहें

Photo of author

Reported by अतुल कुमार

Published on

भारत की टॉप 9 महिला अरब पति, बिजनेस में इन महिलाओं ने बनाया अपना अलग मुकाम

आपने देश में टॉप 10 अमीर पुरुषों के नाम तो अवश्य सुने होंगे और आप उन्हें जानते भी होंगे, लेकिन क्या आपने भारत में महिला अरबपतियों के नाम भी सुने है नहीं ना, तो कोई बात नहीं आज हम आपको इस लेख में भारत की टॉप 9 महिला अरबपतियों के बारे एवम् बताने जा रहें हैं। पूरी जानकारी के लिए इस लेख में आगे तक बने रहिए।

भारत की टॉप 9 महिला अरबपतियों का नाम

भारत की टॉप 9 महिला अरबपतियों का नाम और उनकी कुल संपत्ति (2023 में):

1. सावित्री जिंदल

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

सावित्री जिंदल भारत की सबसे अमीर महिला हैं। वह जिंदल समूह की अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक हैं। जिंदल समूह एक प्रमुख औद्योगिक समूह है, जो स्टील, बिजली, इंफ्रास्ट्रक्चर, रियल एस्टेट और अन्य क्षेत्रों में काम करता है।

सावित्री जिंदल का जन्म 20 मार्च, 1940 को असम के तिनसुकिया जिले में हुआ था। उन्होंने दिल्ली विश्वविद्यालय से स्नातक की उपाधि प्राप्त की। उन्होंने 1970 में ओम प्रकाश जिंदल से शादी की, जो जिंदल समूह के संस्थापक थे।

ओम प्रकाश जिंदल की मृत्यु 2005 में हुई। सावित्री जिंदल ने उनके बाद समूह की कमान संभाली। उन्होंने समूह के विस्तार और विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

सावित्री जिंदल एक सफल व्यवसायी होने के साथ-साथ एक सामाजिक कार्यकर्ता भी हैं। उन्होंने महिला सशक्तिकरण और शिक्षा के क्षेत्र में काम किया है। उन्हें कई पुरस्कारों से सम्मानित किया गया है, जिनमें पद्मभूषण और पद्मविभूषण शामिल हैं। सावित्री जिंदल की नेटवर्थ 2023 में 20.7 बिलियन डॉलर है।

2. विनोद राय गुप्ता
विनोद राय गुप्ता Havells India के मैनेजिंग डायरेक्टर अनिल गुप्ता की मां हैं जिनका नाम भारत की अमीर महिलाओं की लिस्ट में आता है. उनके कुल नेटवर्थ की बात करें तो वह 6.3 बिलियन डॉलर की मालकिन हैं. Havells India इलेक्ट्रॉनिक संबंधित काम जैसे फैन्स, फ्रीज, स्वीच आदि जैसी कई चीजें बनाती है.

3. रेखा झुनझुनवाला

रेखा झुनझुनवाला भारत की तीसरी सबसे अमीर महिला हैं। उनकी कुल संपत्ति 2023 में 5.9 बिलियन डॉलर है। वह अपी इंवेस्टमेंट्स की संस्थापक और प्रबंध निदेशक हैं। अपी इंवेस्टमेंट्स एक प्रमुख निवेश कंपनी है, जो स्टॉक मार्केट में निवेश करती है।

रेखा झुनझुनवाला का जन्म 12 सितंबर 1963 को मुंबई में हुआ था। उन्होंने मुंबई विश्वविद्यालय से ग्रेजुएशन की पढ़ाई पूरी की है। 1987 में उनकी शादी राकेश झुनझुनवाला से हुई, जो भारत के प्रसिद्ध निवेशक हैं।

रेखा झुनझुनवाला ने अपने पति के साथ मिलकर अपी इंवेस्टमेंट्स की स्थापना की। अपी इंवेस्टमेंट्स ने भारतीय स्टॉक मार्केट में कई सफल निवेश किए हैं। कंपनी ने टाइटन, मेट्रो ब्रांड्स, टाटा मोटर्स, और क्रिसिल जैसी कंपनियों में महत्वपूर्ण हिस्सेदारी हासिल की है।

रेखा झुनझुनवाला एक सफल व्यवसायी और निवेशक हैं। वह एक मजबूत और दृढ़ महिला हैं। वह अपने व्यवसाय और समाज के लिए एक प्रेरणा हैं।

4. फाल्गुनी नायर

फाल्गुनी नायर भारत की चौथी सबसे अमीर महिला हैं। उनकी कुल संपत्ति 2023 में 4.8 बिलियन डॉलर है। वह Nykaa की संस्थापक और प्रबंध निदेशक हैं। Nykaa एक प्रमुख ऑनलाइन ब्यूटी और फैशन प्लेटफॉर्म है।

फाल्गुनी नायर का जन्म 19 फरवरी 1963 को मुंबई में हुआ था। उन्होंने सिडेनहैम कॉलेज ऑफ कॉमर्स एंड इकोनॉमिक्स से स्नातक की पढ़ाई पूरी की है। इसके बाद उन्होंने भारतीय प्रबंधन संस्थान, अहमदाबाद से एमबीए की पढ़ाई पूरी की।

फाल्गुनी नायर ने 20 साल तक कोटक महिंद्रा बैंक में काम किया। उन्होंने 2012 में Nykaa की स्थापना की। Nykaa ने भारतीय ब्यूटी और फैशन बाजार में क्रांति ला दी है। कंपनी ने लाखों भारतीय महिलाओं को उनके पसंदीदा ब्यूटी और फैशन उत्पादों तक पहुंच प्रदान की है।

फाल्गुनी नायर एक सफल व्यवसायी हैं। वह एक मजबूत और दृढ़ महिला हैं। वह अपने व्यवसाय और समाज के लिए एक प्रेरणा हैं।

5. लीना तिवारी

लीना तिवारी भारत की पांचवीं सबसे अमीर महिला हैं। उनकी कुल संपत्ति 2023 में 3.5 बिलियन डॉलर है। वह USV इंडिया की अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक हैं। USV इंडिया एक प्रमुख दवा और जैव प्रौद्योगिकी कंपनी है।

लीना तिवारी का जन्म 1958 में मुंबई में हुआ था। उन्होंने मुंबई विश्वविद्यालय से बीकॉम और बॉस्टन विश्वविद्यालय से एमबीए की पढ़ाई पूरी की है।

लीना तिवारी ने अपने पिता विट्ठल गांधी से USV इंडिया की कमान संभाली। उन्होंने कंपनी को नए ऊंचाइयों पर पहुंचाया है। USV इंडिया भारत में सबसे बड़ी कार्डियो-वस्कुलर और डायबिटिक दवाओं की कंपनियों में से एक है। कंपनी एक्टिव फार्मास्युटिकल इंग्रिडिएंट्स (APIs), इंजेक्टेबल्स और बायोसिमिलर ड्रग्स भी बनाती है।

लीना तिवारी एक सफल व्यवसायी हैं। वह एक मजबूत और दृढ़ महिला हैं। वह अपने व्यवसाय और समाज के लिए एक प्रेरणा हैं।

6. दिव्या गोकुलनाथ

दिव्या गोकुलनाथ एक भारतीय उद्यमी और शिक्षिका हैं, जो 2012 में बैंगलोर, भारत में स्थापित एक शैक्षिक प्रौद्योगिकी कंपनी बायजू की सह-संस्थापक और निदेशक हैं।

दिव्या का जन्म 1987 में कर्नाटक के बेंगलुरु में हुआ था। उन्होंने राष्ट्रीय विद्यालय कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग से कंप्यूटर साइंस में इंजीनियरिंग की डिग्री प्राप्त की। कॉलेज के बाद, उन्होंने एक छोटे से शहर में एक स्कूल में ट्यूशन पढ़ाना शुरू किया।

2008 में, दिव्या की मुलाकात बायजू रवींद्रन से हुई, जो एक मशहूर गणितज्ञ और शिक्षाविद् थे। बायजू ने दिव्या को अपने ऑनलाइन गणित पाठ्यक्रम में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया। दिव्या ने इस प्रस्ताव को स्वीकार कर लिया और जल्द ही बायजू की टीम का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बन गईं।

2012 में, दिव्या और बायजू ने मिलकर बायजू की स्थापना की। बायजू एक ऑनलाइन शैक्षिक मंच है जो छात्रों को विभिन्न विषयों में शिक्षा प्रदान करता है। बायजू ने भारत में शिक्षण और शिक्षा में क्रांति ला दी है। कंपनी के लाखों उपयोगकर्ता हैं और यह भारत में सबसे मूल्यवान शैक्षिक प्रौद्योगिकी कंपनियों में से एक है।

दिव्या बायजू की सह-संस्थापक और निदेशक हैं। वह कंपनी की शैक्षिक सामग्री के विकास और कार्यान्वयन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं। वह कंपनी की सामाजिक जिम्मेदारी पहलों में भी सक्रिय रूप से शामिल हैं।

दिव्या एक सफल उद्यमी और एक प्रेरणादायक महिला हैं। वह भारतीय शिक्षा प्रणाली में बदलाव लाने के लिए काम कर रही हैं।

7. मल्लिका श्रीनिवासन

मल्लिका श्रीनिवासन भारत की सातवीं सबसे अमीर महिला उद्यमी हैं। वह ट्रैक्टर एंड फार्म इक्विपमेंट लिमिटेड (TAFE) की अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक हैं, जो भारत की दूसरी सबसे बड़ी ट्रैक्टर निर्माता कंपनी है।

मल्लिका श्रीनिवासन का जन्म 1959 में तमिलनाडु के चेन्नई में हुआ था। उन्होंने मद्रास विश्वविद्यालय से अर्थशास्त्र में स्नातक की उपाधि प्राप्त की है। इसके बाद, उन्होंने पेन्सिलवेनिया विश्वविद्यालय से प्रबंधन में एमबीए की उपाधि प्राप्त की।

मल्लिका श्रीनिवासन की नेट वर्थ 2023 में $2.7 बिलियन है।

8. किरण मजूमदार-शॉ

किरण मजूमदार-शॉ भारत की सबसे अमीर महिला उद्यमी हैं। वह बायोकॉन लिमिटेड की अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक हैं, जो एक प्रमुख जैव प्रौद्योगिकी कंपनी है।

किरण मजूमदार-शॉ का जन्म 23 मार्च 1953 को कर्नाटक के बेंगलुरु में हुआ था। उन्होंने बेंगलुरु विश्वविद्यालय से रसायन विज्ञान में स्नातक की उपाधि प्राप्त की है। इसके बाद, उन्होंने मेलबर्न विश्वविद्यालय से जैव रसायन विज्ञान में एमएस और पीएचडी की उपाधि प्राप्त की।

किरण मजूमदार-शॉ ने 1978 में बायोकॉन की स्थापना की। कंपनी ने शुरुआत में औद्योगिक एंजाइमों का उत्पादन किया, लेकिन बाद में जैविक दवाओं के क्षेत्र में भी प्रवेश किया। बायोकॉन भारत में पहली जैव प्रौद्योगिकी कंपनी थी जिसने मानव इंसुलिन का उत्पादन किया।

किरण मजूमदार-शॉ एक सफल उद्यमी हैं। उन्होंने बायोकॉन को एक वैश्विक कंपनी में बदल दिया है। कंपनी भारत में सबसे बड़ी जैव प्रौद्योगिकी कंपनियों में से एक है।

किरण मजूमदार-शॉ एक प्रेरणादायक महिला हैं। उन्होंने अपने सपनों को पूरा करने के लिए कड़ी मेहनत की है। वह एक सफल व्यवसायी हैं, लेकिन वह एक दयालु और उदार इंसान भी हैं। वह अपने व्यवसाय के माध्यम से लोगों के जीवन को बेहतर बनाने के लिए काम करती हैं।

9. अनु आगा

अनु आगा भारत की एक सफल व्यवसायी और सामाजिक कार्यकर्ता हैं। वह थर्मैक्स लिमिटेड की पूर्व अध्यक्ष थीं, जो एक प्रमुख ऊर्जा और पर्यावरण इंजीनियरिंग कंपनी है।

अनु आगा का जन्म 3 अगस्त 1942 को मुंबई, भारत में हुआ था। उन्होंने सेंट जेवियर्स कॉलेज, मुंबई से अर्थशास्त्र में स्नातक की उपाधि प्राप्त की है। उन्होंने 1965 में रोहिंटन आगा से शादी की, जो थर्मैक्स के संस्थापक थे।

1985 में, अनु आगा ने थर्मैक्स में काम करना शुरू किया। उन्होंने कंपनी के वित्त और मानव संसाधन विभागों का नेतृत्व किया। 1996 में, उनके पति के निधन के बाद, उन्होंने थर्मैक्स की अध्यक्षता संभाली।

अनु आगा ने थर्मैक्स को एक वैश्विक कंपनी में बदल दिया। उन्होंने कंपनी के नवाचार और विकास पर ध्यान केंद्रित किया। उन्होंने कंपनी को भारत में सबसे अधिक ऊर्जा कुशल उपकरणों का निर्माता बनाया।

अनु आगा ने सामाजिक कार्यों में भी सक्रिय रूप से योगदान दिया है। उन्होंने कई गैर-सरकारी संगठनों को दान दिया है। वह शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्र में काम करती हैं।

अनु आगा को कई पुरस्कारों से सम्मानित किया गया है। उन्हें 2007 में फोर्ब्स पत्रिका द्वारा भारत की 40 सबसे अमीर महिलाओं में से एक के रूप में सूचीबद्ध किया गया था। उन्हें 2010 में भारत सरकार द्वारा पद्म श्री से सम्मानित किया गया था।

Leave a Comment