हेल्थ

Ayushman Card Apply Online: जल्द ही आयुष्मान कार्ड बनाए और पाएं 5 लाख तक का मुफ्त इलाज

Ayushman Card Apply Online: जल्द ही आयुष्मान कार्ड बनाए और पाएं 5 लाख तक का मुफ्त इलाज

अतुल कुमार

आयुष्मान भारत योजना का दूसरा चरण, जिसे आयुष्मान 2.0 के नाम से जाना जाता है, 25 सितंबर, 2022 को शुरू किया गया था। इस योजना का उद्देश्य भारत के 40 करोड़ से अधिक परिवारों को स्वास्थ्य बीमा कवर प्रदान करना है। आयुष्मान 2.0 योजना आयुष्मान भारत योजना के पहले चरण का विस्तार है, जिसने पहले से ही 10.7 करोड़ परिवारों को कवर किया है।आयुष्मान 2.0 योजना के तहत, प्रत्येक परिवार को प्रति वर्ष ₹5 लाख तक का स्वास्थ्य बीमा कवर मिलता है। यह कवर 1350 से अधिक बीमारियों के इलाज के लिए मान्य है, जिसमें कैंसर, हृदय रोग, किडनी रोग, स्ट्रोक, आदि शामिल हैं।

गोलगप्पे के पानी का चौंकाने वाला सच स्वाद से ऐसे पहचानें मिलावट

गोलगप्पे के पानी का चौंकाने वाला सच स्वाद से ऐसे पहचानें मिलावट

अतुल कुमार

गोलगप्पे भारत में बहुत लोकप्रिय हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कि इनके पानी में मिलावट हो सकती है? हां, कुछ ठेले वाले मुनाफा कमाने के लिए गोलगप्पे के पानी में हाइड्रोक्लोरिक एसिड मिलाते हैं, जो सेहत के लिए बेहद हानिकारक है।

GM edible oil: इंपोर्टेड क्वालिटी का भ्रम, जानें हकीकत क्या है?

GM edible oil: इंपोर्टेड क्वालिटी का भ्रम, जानें हकीकत क्या है?

अतुल कुमार

GM edible oil ऐसे खाद्य तेल होते हैं जो जीएम फसलों से प्राप्त होते हैं। जीएम फसलों को ऐसे पौधों के रूप में परिभाषित किया जाता है जिनमें जीन को कृत्रिम रूप से बदल दिया जाता है। जीन को बदलने के लिए, वैज्ञानिक आमतौर पर जीवाणु या वायरस से जीन लेते हैं और उन्हें पौधे के जीनोम में डालते हैं।

Diabetes control tips: डायबिटीज मरीजों के लिए इंसुलिन बढ़ाने और ग्लूकोज कम करने के 14 बेहतरीन उपाय

Diabetes control tips: डायबिटीज मरीजों के लिए इंसुलिन बढ़ाने और ग्लूकोज कम करने के 14 बेहतरीन उपाय

अतुल कुमार

सुलिन अग्न्याशय द्वारा निर्मित एक हार्मोन है जो मानव शरीर में कई जरूरी काम करता है। बात डायबिटीज के बारे में करते हैं। यह हार्मोन शरीर में ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने का काम करता है। जब किसी वजह से अग्न्याशय इस हार्मोन को कम बनाता है या नहीं बनाता है, तो शरीर में ब्लड शुगर लेवल अनकंट्रोल हो जाता है, जिससे डायबिटीज की बीमारी जन्म लेती है।

Women's Day: नाश्ते में लें ये एक चीज, 30 दिन में मिलेगी ताकत और दूर होगी कमजोरी

Women’s Day: नाश्ते में लें ये एक चीज, 30 दिन में मिलेगी ताकत और दूर होगी कमजोरी

अतुल कुमार

खून की कमी से महिलाओं को कई सारी दिक्कतें होती हैं। 30 साल के बाद यह बीमारी काफी आम होती है। इस ड्रिंक में आयरन, विटामिन डी औऱ प्रोटीन देने वाले फूड्स की भरमार है। जो हीमोग्लोबिन बढ़ाकर मसल्स को मजबूत बनाने में मदद करती हैं।

आयुर्वेद के जानकार कहते हैं, फल और दूध का शेक पीना सेहत के लिए नहीं है फायदेमंद, समझें इसकी वजह

आयुर्वेद के जानकार कहते हैं, फल और दूध का शेक पीना सेहत के लिए नहीं है फायदेमंद, समझें इसकी वजह

अतुल कुमार

ज्यादातर लोगों को फ्रूट मिल्क शेक पीना बहुत पसंद होता है. कुछ पेरेंट्स इसे हेल्दी समझकर अपने बच्चों को भी ...

ये 5 लक्षण शरीर में दिखें तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें, हो सकता है ये भयंकर कैंसर

ये 5 लक्षण शरीर में दिखें तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें, हो सकता है ये भयंकर कैंसर

अतुल कुमार

पॉटी में ब्लीडिंग को किसी भी उम्र में इग्नोर नहीं करना चाहिए। अगर आपको मल में खून दिखता है तो तुरंत डॉक्टर को इसकी सूचना दें। हालांकि इसके पीछे बवासीर या फिशर जैसी समस्याएं भी हो सकती हैं।

ज़रूरत से ज़्यादा vitamin D की खुराक लेने से व्यक्ति की मौत, NHS ने बताया आवश्यक मात्रा

ज़रूरत से ज़्यादा vitamin D की खुराक लेने से व्यक्ति की मौत, NHS ने बताया आवश्यक मात्रा

अतुल कुमार

विटामिन डी सप्लीमेंट्स के लंबे समय तक अत्यधिक सेवन से हाइपरकैल्सीमिया हो सकता है, जहां शरीर में अत्यधिक कैल्शियम जमा हो जाता है, जिससे हड्डियां कमजोर हो जाती हैं और किडनी और हृदय को नुकसान पहुंचता है।

गर्भवती महिलाओं के लिए झगड़े से होने वाले नुकसान, बच्चे के स्वास्थ्य पर पड़ सकता है बुरा प्रभाव

गर्भवती महिलाओं के लिए झगड़े से होने वाले नुकसान, बच्चे के स्वास्थ्य पर पड़ सकता है बुरा प्रभाव

अतुल कुमार

डॉक्‍टर रीमा ने बताया कि प्रेग्‍नेंसी में पति के साथ झगड़े का असर शिशु के स्‍वास्‍थ्‍य पर पड़ सकता है। लड़ाई से एंग्‍जायटी और डिप्रेशन होता है जो बच्‍चे को नुकसान पहुंचा सकता है। प्रेग्‍नेंसी में बहस करने से बच्‍चे के मस्तिष्‍क से लेकर इम्‍यून सिस्‍टम तक पर असर पड़ता है।

एक आदमी ने 200 बार कोरोना की वैक्सीन लगवाई, सुनकर वैज्ञानिक भी चौंक गए

एक आदमी ने 200 बार कोरोना की वैक्सीन लगवाई, सुनकर वैज्ञानिक भी चौंक गए

अतुल कुमार

इस स्टडी में शामिल एक 62 वर्षीय जर्मन व्यक्ति का दावा है कि उसने 217 बार कोविड-19 का टीका लगवाया है. हालांकि, यह संख्या अभी तक पुष्टि नहीं हुई है. वैज्ञानिकों ने पाया कि इतनी बार टीका लेने के बाद भी उस शख्स की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ी है और उसके शरीर में एंटीबॉडी बन रही है.